Click to Download this video!
अंकल की लड़की अपनी चुदाई की जुगाड़

हेल्लो दोस्तो, आज मैं आपके सामने एक परिचित वाले अंकल की लड़की की बेटी को कैसे चोदा सुनाने जा रहा हूँ | मैं गाव का रहने वाला हूँ लेकिन शहर पर रहने के लिए आया हुआ था | मैं मछली बेचकर अपनी जीविका चलाया करता था | मेरी एक मछली की दुकान है जहा से मैं मछली बेचा करता था | मेरी दुकान पर एक अंकल अक्सर आया करते थे | उस अंकल को मछली खाने का सौक था | इसलिए वो मेरी दुकान पर आया करते थे | जब कभी वो मेरी दुकान पर नही आ पाता थे तो वो उनकी लड़की को भेज देते थे | इसके आलावा मैं उस लड़की के घर भी जाता था उस लड़की के पापा को मछली पहुचाने के लिए | एक दिन जब वो लड़की घर पर अकेली थी तब मैंने उस लड़की को उसके घर पर चोदा था | चलिए जानते है मैंने ऐसा कैसे किया | उस लड़की का पापा मुझे पसन्द करने लगा था | इसलिए वो रोज मेरी मछली खरीदने के लिए आया करते थे |

असलियत तो ये थी की उस लड़की के पापा लड़का तलाश कर रहे थे | लड़के की तलाश करने के दौरान उन्होने ये फैसला लिया था | शायद उनकी लड़की भी मुझे पसन्द करती थी | एक दिन जब मैं उनके घर पर गया था तब उनके पापा ने मुझे बैठने के लिए कहा और फिर उन्होने मुझे जो बताया उसे जानकर एक खुसी मिली | उसके पापा ने मुझ से कहा था की उनकी लड़की के लिए एक लड़का तलाश कर रहे है | एक दिन उन्होने मुझ से आखिरकार कह दिया की उनकी लड़की के लिए एक लड़का तलाश कर रहा हूँ | क्या तुम मेरी लड़की से शादी करने के लिए तयार हो | एक दिन मैंने अपनी लड़की से पूछा था की क्या उस लड़के से शादी करने के लिए तयार हो | तब मैंने उस लड़की के पापा को कहा की मैं फिलहाल अभी शादी नही कर सकता हूँ लेकिन कुछ साल के बाद आपकी लड़की से शादी करने के लिए तयार हूँ | उस दिन के बाद से उस लड़की के पापा ने मुझको एक छुट दिया था की मैं उस लड़की के घर पर आसानी से कभी भी आ जा सकता था | उस लड़की के पापा जब घर से बाहर रहते थे | तब मुझ को फोन लगा दिया करते थे और कह देते थे की तुम कहा पर हो | फिर वो फोन से मुझको कहा करते थे अगर तुम्हारे पास मछली है तो तुम मेरे घर पर ले कर आजाना | फोन पर वो कहा करते थे की घर पर मेरी बेटी है उसे दे देना और वो ये कहते थे की फिलहाल मैं घर से बाहर हूँ इसलिए तुम मेरी लड़की को मछली दे देना | उनके कहने पर मैं उस लड़की को मछली पहुचाने के लिए चला जाता था |

एक दिन तो मुझे उसके पापा ने फोन पर कह दिया था की तुम्हारे लिए मेरी बेटी ने मिटाई बनाया है इसलिए तुम मिटाई अवस्य खाकर जाना | उनके ऐसा कहने पर एक दिन मैं उस अंकल के घर पर गया हुआ था तब मैंने उस लड़की का दिया हुआ मिटाई को खाया | जब मैं उस दिन मिटाई खा रहा था तभी उस लड़की के पापा का फोन आया और उस लड़की ने मुझे बताया की पापा का फोन आया था और उन्होने मुझे से कहा था की फिलहाल वो अभी नही आ सकते है | फिर उस लड़की ने मुझको सोफा पर बैठने के लिए कहा | उसके ऐसा कहने पर मैं उस लड़की का दिया हुआ सोफा पर बैठ गया | कुछ समय तक तो मैं उस लड़की की दी हुई मिटाई को खाता रहा | फिर उस लड़की ने मुझ से कहा की मैं आपके लिए कुछ खास बनाकर लाती हूँ | उस लड़की ने फिर मेरे लिए पुडी और छोले बनाकर लेकर आई | उसने फिर मुझे पुडी और छोले खाने के लिए दिया | जब मैं पुडी और छोले खा रहा था तब वो लड़की मुझे देखकर हस रही थी | जब वो लड़की मुझे देखकर हस रही थी | तब उस लड़की से मैंने पूछा की आप क्यों हस रही हो | तब उसने मुझे बताया की मैं इसलिए हस रही क्योकि तुम जब हस्ते हो तो लाजवाब लगते हो | उस लड़की ने मुझ से कहा की अब से तुम मेरे घर पर आओगे तो मैं तुम्हारे लिए कुछ न कुछ खास बनाकर खिलाती रहुँगी | कुछ समय तक तो वो लड़की मुझ को देखकर हस्ती रही | फिर वो लड़की मुझ को उसके हातो से पकडकर छेड़ने लगी | जब वो लड़की मुझे छेड़ने लगी तो उस दिन मैं उस लड़की से कहा की मैं आपके घर अगले दिन आऊँगा | जब अगले दिन मैं उस लड़की के घर पर गया था मछली ले कर तब उस लड़की ने मुझे पहले बैठने के लिए कहा | फिर मैं जब बैठ गया तो उस लड़की ने मेरे लिए किचन से कुछ बनाकर ले आई | फिर मैं उस लड़की का बनाया हुआ पकवान खाया |

जब मैं उस लड़की का बनाया हुआ पकवान खा रहा था तब उस लड़की ने मुझे छेड़ना शुरु कर दिया | वो लड़की जब मुझे छेड़ रही थी तब मैं उस लड़की से नही छेड़ने के लिए कहा | लेकिन उस लड़की ने मुझ से कहा की लोगो को छेड़ना उसकी आदत है | इसलिए उसकी इस आदत पर मैंने उसे पकड लिया और फिर मैंने उस लड़की के हाथो को पकड लिया | जब उस लड़की ने मेरे हातो को पकड़ा था तब मैं उस लड़की से अपने पकडे हाथो को छुड़ा रहा था | तभी मैंने उस लड़की के दूद को दबा दिया | वो लड़की मचल उठी और फिर मैंने उस लड़की के चूत को जीब से चाटने के लिए फिर मैंने उस लड़की की चड्डी को अपने हाथो से हटा दिया | लेकिन तब वो लड़की कपडे पहने हुई थी | वो लड़की एक बड़ा कुरता पहनी हुई थी | उसकी कुरता के निचे घुस कर फिर मैं उस लड़की के चूत को चाटना शुरु कर दिया | वो लड़की खड़ी थी और मैं घुटने के बल बैटकर उस लड़की की चूत को चाट रहा था | चूत को चाटने के बाद फिर मैंने उस लड़की का पिछवाडा को दबाना शुरु किया | उस लड़की का पिछवाडा दबाना के बाद फिर मैं उस लड़की के पिछवाड़े के अन्दर अपना लंड को डाल दिया | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की का पिछवाडा अपनी जीब से चाटना शुरु कर दिया | लेकिन मुझे एक डर लग रहा था क्योकि उस लड़की के पापा कभी भी आ सकते थे | हुआ भी ऐसा ही जब मैं उस लड़की के घर से बाहर निकल रहा था तब उस लड़की के पापा घर से कुछ दूरी पर थे | वो घर के पास आ रहे थे और मैंने उस दिन लड़की के घर से बाहर निकलने का फैसला समय पर ले लिया था | अगर कुछ समय की देरी होती तो उसका पापा मुझे चुदाई करते समय पकड सकते थे |

अगले दिन जब मैंने मछली पकड़ी थी और मैं अपने दुकान पर मछली बेच रहा था | तब उस दिन वो लड़की उनकी सहेली के साथ मेरी दुकान पर आई हुई थी तब उस लड़की ने मुझ से कहा की मैं अपनी सहेली को तुम्हारे पास ले कर आई हुई हूँ | उस लड़की ने मुझे बताया की उनकी सहेलियो को मछली खरीदना है | उनको मेरा दुकान नही मालूम था इसलिए उस लड़की ने उसकी सहेलियो को मेरे साथ लेकर आई हुई थी | उस लड़की की सहेलिय भी रोचक थी | उस लड़की की सहेलिय ने मेरे दुकान का फोन नम्बर ले लिया था | जब उस लड़की की सहेलियो ने मेरा फोन नम्बर ले लिया था इसलिए उन लडकियो ने मेरा फोन नम्बर इस उद्देश्य से लिया था क्योकि उनको मेरी दुकान पर आना नही पड़ा | एक दिन उस लड़की की एक सहेली ने मुझ को फोन लगाया और कहा की तुम कब तक मेरे घर पर मछली ले कर आ सकते हो | तब उस लड़की की सहेली से मैंने फोन पर कहा की मैं कुछ समय के बाद तुम्हारे पास पहुचने वाला हूँ | जब मैं लड़की की सहेली के घर पर पहुचा तो मुझे वो लड़की भी मुझे उसके घर पर मिली | उस लड़की ने फिर मुझ से मुलकात किया और मुलकात के दौरान मैंने उस लड़की के गाल को चूम लिया उस समय उस लड़की की सहेली भी घर पर मौजूद थी लेकिन उस लड़की की सहेली ने मुझे देख नही पाया था जब मैंने उस लड़की के गाल पर चूमा था | उस दिन मैंने उस लड़की को गले भी लगाया था लेकिन मैं ये सम्भलकर कर रहा था | मैंने उस लड़की से कहा की क्यो ना तुम तुम्हारी सहेली से कह दो की कुछ समय के लिए तुम घर से बाहर चले जाओ | तुम उस लड़की से कह सकते हो की तुम घर से बाहर कुछ चीज लाने के लिए कह सकते हो | उस लड़की ने मेरी सलाह को महत्व दिया और उसने फिर उसकी सहेली को कुछ चीज लाने के लिए बाहर भेज दिया |

जब उस लड़की की सहेली बाहर गई हुई थी तब मैंने उस लड़की जिसके पापा मुझको पसन्द करते थे उस लड़की को गले लगा लिया | गले लगाने के बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत को चाटने के लिए फिर मैंने उस लड़की के कपडे को उतार दिया | उस लड़की के कपडे उतरने के बाद फिर मैंने उस लड़की की चूत को चाटने के लिए फिर मैंने उस लड़की की चड्डी को उतार दिया | जब उस लड़की की चड्डी को उतार दिया तब वो लड़की मेरे सामने नंगी खड़ी हुई थी और मैं उस लड़की की चूत को चाट रहा था | उस लड़की की चूत को चाटने से पहले मैंने उस लड़की के पजामा को निचे खीच लिया था | इसके आलावा मैं उस लड़की को एक कमरे पर ले जा कर चोद रहा था | लेकिन घर पर मुख्य दरवाजा मैंने बन्द नही करने के लिए कहा था | ताकि अगर उस लड़की की सहेली और अगर कोई आ जाता तो किसी को ये नही मालूम चलता की क्या हुआ था | जब मैं उस लड़की के साथ घर के कमरे पर अकेला था तब उस लड़की की चूत को मैंने एक कुर्सी पर बैठा दिया था | जब वो लड़की बैठी हुए थी तब मैंने उस लड़की के कपडे को उतारा | फिर मैं खडा होकर उस लड़की के दूद को दबा रहा था | जब मैं उस लड़की के दूद को दबा रहा था तब वो लड़की कुर्शी पर बैठी हुई थी | फिर मैंने अपना पेन्ट खोला और अपना लंड बाहर निकाल लिया | जब मेरा लंड बाहर आया हुआ था तब मैंने उस लड़की को अपना लंड चूसने के लिए दिया | फिर वो लड़की मेरा लंड चुसना शुरु कर दी | वो लड़की कुर्शी पर बैठकर मेरा लंड चूस रही थी | इसके बाद जब काफी समय हो गया था तब मैंने उस लड़की से कहा की अब मैं चलता हूँ फिर मैंने दरवाजा खोला और मैं कमरे से बाहर निकल आया |


Share on :

Online porn video at mobile phone